Home Top City गुजरात: रन ऑफ कच्छ के प्रमुख दर्शनीय

गुजरात: रन ऑफ कच्छ के प्रमुख दर्शनीय

5 second read
0
0
139

रन ऑफ कच्छ गुजरात के प्रमुख शहर कच्छ में फैला हुआ है। ये दुनिया का सबसे बड़ा नमक का रेगिस्तान है। यह विश्व भर में प्रसिद्ध है। बिना कच्छ देखे गुजरात का दर्शन अधूरा है, अगर आप गुजरात आए और रन ऑफ कच्छ नहीं गए तो आपका गुजरात दर्शन व्यर्थ है। यह संस्कृति, परंपरा, और कलाओं का गढ़ है। यहां एक नहीं कई तरह की संस्कृति और कलाओं का संयोग देखने को मिलता है। अद्भुत रेगिस्तान सफेद रंग का दिखाई देता है ये थार मरुस्थल का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। वैसे तो रन ऑफ कच्छ का बहुत सा हिस्सा गुजरात में है लेकिन उसका कुछ हिस्सा पाकिस्तान में भी स्थित है। नमक का यह सफेद रेगिस्तान देखने में समुद्र जैसा प्रतीत होता है। इसकी खूबसूरती का वर्णन जितना किया जाए कम है यहां जाने का अनुभव सबसे अनोखा और आश्चर्यजनक होता है।

रन ऑफ कच्छ उत्सवः

अगर आप भी रन ऑफ कच्छ जाने के बारे में सोच रहे हैं तो नवंबर से लेकर फरवरी तक का महीना आपके लिए सबसे उपयुक्त हो सकता है। क्योंकि 1 नवंबर से लेकर फरवरी के अंत तक यहां रन ऑफ कच्छ उत्सव मनाया जाता है। इस उत्सव को चांदनी रात में रन ऑफ कच्छ के सफेद रेगिस्तान में आयोजित किया जाता है। जिसे देखने के लिए देश-विदेश से सैकड़ों-लाखों सैलानी हर साल नवंबर से फरवरी के माह में गुजरात आते हैं।

 

अगर आप पाकिस्तान की झलक देखना चाहते हैं तो रन ऑफ कच्छ से पाकिस्तान के सिंध प्रांत की झलक आसानी से देखी जा सकती है, जो रन ऑफ कच्छ से थोड़ी ही दूरी पर स्थित है। यहां की स्थानीय लोग हस्तकला, शिल्प कला में इतने निपुण है कि इनकी कलाकृतियां रन ऑफ कच्छ के आकर्षण को सैकड़ों गुना बढ़ा देती है। पिछले साल के रन ऑफ कच्छ उत्सव में स्वामी विवेकानंद से लेकर रामायण काल तक के लोगों की कच्छ यात्रा को सफेद रेत के रेगिस्तान पर हस्तकला के द्वारा बड़ी खूबसूरती से उभारा गया था। इस उत्सव में आकर आप हॉट बैलून और रण कार्निवल के साथ-साथ लोकल नृत्य, कला, संगीत का आनंद ले सकते है।

रन ऑफ कच्छ के प्रसिद्ध पकवानः

रन ऑफ कच्छ के लोकल लोगों की जीवन शैली बहुत साधारण, सीमित और सुलझी हुई है। यहां बाजरे से बना हुआ रोटलासा और छाछ या बटर मिल्क एक साथ परोसा जाता है, जो आने वाले पर्यटकों को काफी आकर्षित करता है। यहां का खमन ढोकला, रायता, दही बड़ा, कचोरी, गठिया, मोहनथाल गुलाब पाक, गुलाब जामुन, जलेबी यह सारे स्वादिष्ट व्यंजन रण आफ कच्छ में विशेष रूप से प्रसिद्ध है।

इन सबके साथ ही धोलावरी, विजय विलास पैलेस, काला डंगूर, मांडवी बीच, श्री स्वामीनारायण मंदिर, कच्छ संग्रहालय, भुजोड़ी, वन्य अभ्यारण, नारायण सरोवर, लखपति किला, यह सब रन ऑफ कच्छ के आसपास के प्रमुख दर्शनीय स्थल है।

कैसे पहुंचेः

गुजरात का भुज शहर रण आफ कच्छ के बिल्कुल पास पड़ता है। यहां इंटरनेशनल एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन सभी कुछ मौजूद है। यहां रेल और एयरलाइन की सहायता से आसानी से पहुंचा जा सकता है। भुज रण आफ कच्छ से सिर्फ 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। एक बार भुज पहुंचने के बाद आप बस या टैक्सी के जरिए आसानी से रन ऑफ कच्छ पहुंच सकते हैं।

Load More Related Articles
Load More By suman rajawat
Load More In Top City

Check Also

सपनों के शहर मुंबई की यात्रा

मुम्बई शहर चारों ओर से समुद्र से घिरा हुआ है। मुम्बई को कोई सपनों का शहर मानता है तो कोई म…