Home Top City गुलाबी शहर जयपुर की यात्रा

गुलाबी शहर जयपुर की यात्रा

10 second read
2
0
जयपुर की यात्रा

यदि आप इतिहास ,राजस्थानी संस्कृति औऱ शापिंग का मजा एक साथ लेना चाहते हैं, तो आपको गुलाबी शहर जयपुर की यात्रा जरूर करना चाहिए। किले की चार दिवारी के अंदर घिरा हुआ पुराना जयपुर शहर आपको एकाएक विस्मृत कर देता है।

जयपुर में अनेकों टूरिस्ट जगह  है  और यहां के बाजार अनेक प्रकार के हैंडीक्राफ्ट सामानों से भरे पड़े है। इसके अलावा आप राजस्थानी खाना और मिठाइयों के शौकीन है तो जयपुर से बेहतर विकल्प नहीं  है।

 

गुलाबी शहर जयपुर

यदि आप पूरा जयपुर शहर अच्छे से घूमने की इच्छा रखते हैं तो कम से तीन से चार दिनों का समय आपको लग सकता है। जयपुर शहर के मुख्य आकर्षण इस प्रकार है।

आमेर फोर्ट

आमेर फोर्ट

आमेर फोर्ट जयपुर में देखने लायक शानदार जगहों में से एक है जो कि पहाड़ियों पर बना हुआ है। इस फोर्ट का इसिहास और वास्तुकला देख कर आप आश्चर्यचकित हो सकते हैं। यहाँ जाकर आप सोचने पर विवश हो जाएंगे कि पहले के राजा कैसे रहा करते थे। फोर्ट की ऊंचाई से आप यदि नीचे देखे तो आपको बहुत ही खूबसूरत झील और पूरा जयपुर शहर दिखाई देगा।  जयपुर आप जब भी जायें , आमेर फोर्ट जरूर जाएं।

अल्बर्ट हॉल म्यूजियम

अल्बर्ट हॉल म्यूजियम

इस म्यूजियम का निर्माण अल्बर्ट एडवर्ड जो कि वेल्स के राजकुमार थे, उनके नाम पर किया गया है। यदि आपको भारतीय कला और संस्कृति से प्यार है तो इससे बेहतर जगह आपको नहीं  मिलेगी। यहां विभिन्न कालों की अद्भुत अकल्पनीय चीजें संग्रहित है। यहां मिस्र से लाकर एक  ममी को  भी संग्रहित किया गया  है। जिसे देखकर आप आश्चर्य में पड़ जाएंगे और सोचने में मजबूर हो जाएंगे कि हमारे इतिहास में कई चीजें कितनी उन्नत थी।

जयगढ़ फोर्ट और नाहरगढ़ फोर्ट:-

जयगढ़ फोर्ट और नाहरगढ़ फोर्ट

अगर आप ऐतिहासिक इमारतों को देखने के शौकीन हैं  तो आमेर फोर्ट के अलावा आसपास ही स्थित जयगढ़ फोर्ट और नाहरगढ़ फोर्ट की यात्रा साथ में कर सकते हैं। यह दोनों फोर्ट अरावली पहाड़ी की ऊंचाई पर स्थित है और यहां से जयपुर शहर का बहुत ही विहंगम दृश्य देखने को मिलता है।

हवा महल:

हवा महल

हवा महल एक खूबसूरत महल है, जिसका निर्माण महाराजा सवाई सिंह के द्वारा करवाया गया था। इसका निर्माण मुख्य रूप से महल की रानियों के लिए करवाया गया था ताकि वे महल की खिड़कियों से बाहरी हलचल, उत्सवों को देख पाए, उसका आनंद ले पाये। हवा महल की वास्तुकला आपको बरबस अपनी ओर आकर्षित करेगी।

बिड़ला मंदिर:

बिड़ला मंदिर

सफेद संगमरमर से बना मंदिर बहुत ही भव्य है, जो कि मोती डूंगरी पहाड़ी पर बना है। जहां आपकी नजर आकर्षक लक्ष्मी नारायण की मूर्ति से हटने नही वाली है। मंदिर के अंदर संगमरमर पर वास्तुकला का महीन कार्य आपको आश्चर्यचकित कर देगा। यदि आप राजस्थानी कपड़ो में फोटो खिचाने की चाहत रखते हैं, तो यहाँ मंदिर के पास आपको इसके कई विकल्प मिल जायेंगे|

सिटी पैलेस:

सिटी पैलेस

जयपुर की पिंक सिटी सिटी में सिटी पैलेस मुख्य आकर्षण केंद्र है इसका इसका निर्माण सवाई जयसिंह ने 1730 ईस्वी में करवाया था। इस महल के के एक भाग में म्यूजियम स्थित है जो जयपुर तथा यहां के शासकों के इतिहास को भलीभांति प्रदर्शित करता है। इस म्यूजियम में राजस्थानी हैंडीक्राफ्ट की कई बेशकीमती धरोहर संरक्षित हैं।

जल महल:

जल महल

जल महल आमेर फोर्ट जाने के रास्ते में पड़ता है । यह तालाब के मध्य में बना हुआ महल है। जिसकी खूबसूरती देखते ही बनती है। पुराने समय मे राजा-महाराजा यहां आकर आराम करते थे। जल महल के अंदर पर्यटकों का जाना निषेध है, लेकिन शाम को जलमहल के किनारे आप असीम शांति का अनुभव करेंगे साथ ही आपको तरह तरह के पक्षी देखने को मिलेंगे।

जंतर मंतर:

जंतर मंतर

जंतर मंतर का निर्माण जयपुर के महाराजा सवाई जयसिंह द्वितीय ने करवाया था। यह एक ऐतिहासिक खगोलीय वेधशाला है जहां पर समय और खगोलीय पिंडों की गणना के लिए कई वस्तुओं का निर्माण किया गया है। यहां का मुख्य आकर्षण विश्व की सबसे बड़ी सूर्य घड़ी है।

कैसे पहुँचे:

जयपुर आप ट्रेन , हवाई यात्रा, या सड़क मार्ग से जा सकते हैं। यहां लोग देश-विदेश से भी घूमने आते हैं। यह शहर बड़े बड़े शहरों से जुड़ा हुआ है। इसलिए आप यहां ट्रेन से, लक्जरी बस से या हवाई यात्रा करके  आसानी से पहुँच सकते हैं।

Load More Related Articles
Load More By Anjali pandey
Load More In Top City

Check Also

देवभूमि हरिद्वार के दर्शनीय स्थल

उत्तराखंड राज्य में पहाड़ियों के बीच बसा हुआ हरिद्वार जिसे देवभूमि तुल्य माना गया है। यह हि…