Home Top City मंडी हिमाचल प्रदेशः पत्थरों के मंदिर के लिए प्रसिद्ध है

मंडी हिमाचल प्रदेशः पत्थरों के मंदिर के लिए प्रसिद्ध है

5 second read
0
0
144
Himachal pradesh

हिमाचल प्रदेश के मंडी शहर को वाराणसी ऑफ हिल्स भी कहा जाता है। इसे पहले मांडवा नगर के नाम से जाना था। यहां पर पहले एक मांडवा नाम के महान गुरु रहा करते थे इन्हीं साधु के नाम पर शहर का नाम मांडवा था। जो आगे चलकर मंडी हो गया। हिमाचल प्रदेश का मंडी शहर अपनी खूबसूरत पत्थरों के मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। यहां 300 से भी ज्यादा हिंदू धर्म के मंदिर है जो भगवान शिव और मां काली को समर्पित है।

हिमाचल प्रदेश मंडी में देखने लायक प्रमुख दर्शनीय स्थलः

1. शिकारी देवीः

शिकारी देवी नामक यह मंदिर हिंदू धर्म के लोगों की आस्था का प्रतीक है। यह समुद्र स्तर से 2800 मीटर की ऊंचाई पर बना हुआ है। कहा जाता है जब पांडवों का अज्ञातवास के दौरान शिकार खेलने के लिए पहुंचे तो यहां माता शिकारी देवी ने उन्हें अपना दर्शन दिया था। इसके बाद पांडवों ने इस मंदिर की स्थापना करवाई थी। इस मंदिर में कभी भी छत नहीं  बन पाता, लोगों का मानना है कि छत बनाने की कोशिश कई श्रद्धालुओं ने की है लेकिन कभी भी छत टिक ही नहीं पाता है। ठंड के मौसम में यहां जाना थोड़ा दुर्लभ है गर्मी के मौसम में बहुत से श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं। इस मंदिर के चारों तरफ की प्राकृतिक सुंदरता श्रद्धालुओं का मन मोह लेती है। यहां आकर लोग दर्शन के साथ-साथ ट्रैकिंग का लुफ्त उठा सकते है।

2. सुंदर नगर, मंडी, हिमाचल प्रदेशः

सुंदर नगर शहर बहुत समय पहले एक रियासत हुआ करता था। इस शहर को उस समय सुकेत के नाम से जाना जाता था। इस छोटे से शहर का प्रमुख आकर्षण व्यास-सतलज परियोजना द्वारा निर्मित झील है। यह परियोजना भारत की सबसे बड़ी हाइडल परियोजनाओं में से एक है। यहां की प्राकृतिक सुंदरता इस शहर को बहुत खूबसूरत बनाती है। यहां ऊंचे-ऊंचे पेड़ लोगों को आकर्षित करते हैं। ठंड में हरियाली और भी ज्यादा बढ़ जाती हैं। यह नगर आकार में छोटा है लेकिन इसकी प्राकृतिक सुंदरता इसे खूबसूरत बनाती है।

Bhoot nath mandir mandi himachal pradesh


3. भूतनाथ मंदिरः

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में भूतनाथ मंदिर है इस मंदिर का निर्माण राजा अजवेर सिंह ने 1527 ईस्वी में करवाया था। कहा जाता है कि राजा को सूचना मिली कि एक सुनसान जगह पर रोज गाय के थन से दूध खुदबाखुद बहने लगता है। इस सूचना को सुनते ही राजा उस सुनसान स्थान पर पहुंचे वहां भगवान शिव ने राजा को दर्शन दिए। उस स्थान पर शिवलिंग की स्थापना करवाई गई तभी से इसे भूतनाथ मंदिर के नाम से जाना जाता है। राजा ने इस भव्य मंदिर का निर्माण करवाया था। यह मंदिर पूरी तरह से भगवान शिव को समर्पित है। हर साल यहां शिवरात्रि को बहुत बड़ा मेला लगता है और उसे बहुत हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।

 

4. रिवालसर झीलः

रिवालसर झील मंडी का प्रमुख झील है, इसे लोटस झील के नाम से भी जाना जाता है। हिमाचल प्रदेश का यह खूबसूरत है स्थान बौद्ध धर्म को समर्पित है। यहां भगवान बुद्ध के तीन मठ बने हुए हैं। साथ ही हिंदू मंदिर भी यहां पर स्थापित है। यहां पर भगवान श्री कृष्ण और शिव के मंदिर हैं। साथ ही सिख धर्म के दसवें गुरु गोविंद सिंह का भी यहां पर एक मंदिर है। यहां हर साल फरवरी में मेला लगता है इस समय यहां पर लाखों पर्यटक मेले का आनंद लेने के लिए आते हैं।

Load More Related Articles
Load More By suman rajawat
Load More In Top City

Check Also

सपनों के शहर मुंबई की यात्रा

मुम्बई शहर चारों ओर से समुद्र से घिरा हुआ है। मुम्बई को कोई सपनों का शहर मानता है तो कोई म…