Home Top City यदि आपको भी लुभाता है भारत का इतिहास तो जरूर जाए इन एतिहासिक किलों पर

यदि आपको भी लुभाता है भारत का इतिहास तो जरूर जाए इन एतिहासिक किलों पर

20 second read
1
0
indias historic forts

हमारे भारत में अनेक किले और स्मारक देखने को मिल जाएंगे जो उसकी वास्तुकला, उसकी भव्यता का जीवंत उदाहरण प्रस्तुत करते हैं। आमतौर पर ये किले ऊंचाई पर अपने नगर को सुरक्षित रखने के लिए पत्थरों से बनाए जाते थे| इन किलों के दरवाजे विशालकाय होते थे। भारत के अधिकांश किले आपको राजस्थान में देखने को मिल जाएंगे जो अपने साथ एक इतिहास की कहानी को समेटे हुए है। लेकिन भारत के हर कोने में आपको कई किले देखने को मिल जाएंगे जो प्रसिद्ध है। यदि आप इतिहास में रुचि रखते हैं और भारत के प्राचीन इतिहास को करीब देखना चाहते हैं तो इन ऐतिहासिक किलों में एक बार जरूर भ्रमण करने को जाए।

लाल किला-दिल्ली ( Red Fort)

red fort

जब भारत के शान की बात की जाये और उसमें लाल किले का जिक्र ना हो, ऐसा नही हो सकता। लाल किला भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित है। इसके लाल रंग होने के कारण ही इसे लाल किला कहा जाता है। इसे यूनेस्को के द्वारा 2007 में यूनेस्को के द्वारा विश्व धरोहर माना गया। यमुना नदी के तट पर स्थित इस किले के अंदर और भी कई चीजें देखने को मिल जाएंगी जैसे दीवाने आम, दीवाने खास, मोती मस्जिद आदि। यह किला भारत का प्रसिद्ध स्मारक है। यही पर भारत के प्रधानमंत्री हर साल स्वतंत्रता दिवस को झंडा फहरा कर सारे भारत को संदेश देते हैं। यहां हर शाम को होने वाले साउंड और लाइट के शो को आप जरूर देखें, अलग अलग रंग में दिखने वाला किला अपनी प्राचीनता स्वयं बयां करता है।

जैसलमेर का किला-जैसलमेर(राजस्थान) ( jaislmer fort)

jaisalmer fort

जैसलमेर का किला को लोग सोनार किला के नाम से भी जानते हैं। यह किला विश्व के सबसे बड़े किलों में से एक है। इसका निर्माण राजपूत शासक रावत जैसल के द्वारा करवाया गया था। गोल्डन फोर्ट के नाम से प्रसिद्ध यह किला की वास्तुकला बहुत ही अनुपम है। यहां के किले में चार द्वार है। यह किला इतना विशाल है कि शहर की एक चौथाई जनसंख्या इसमे ही स्थित है। इस किले में आपको अनगिनत कमरे मिल जाएंगे। शाम को जब सूर्य की किरणें इस किले पर पड़ती है तो यह किला सुनहरा होकर चमकने लगता है।

Read More:- सपनों के शहर मुंबई की यात्रा

गोलकोंडा किला( हैदराबाद) (Golkonda Fort)

gol kanda fort

गोलकोंडा किला हैदराबाद में है। गोलकोंडा यह नाम दरअसल गोल्ला कोंडा’ शब्द पर रखा गया है जिसका अर्थ है मिट्टी का किला। इस किले का निर्माण मोहम्मद शाह और कुतुबशाह के समय विशाल चट्टानों के द्वारा करवाया गया था। ऐसा कहा जाता है कि इस किले के आसपास ही खुदाई से कोहिनूर हीरा निकला था। इस किले के पास ही मुसी नदी बहती है। यह किला इतना बड़ा है, जो आज के समय में एक शहर के बराबर है। इसकी भव्यता इसके अवशेष देख कर ही आप समझ सकते हैं।

 

मेहरानगढ़-जोधपुर (Mehrangarh Fort)

mehrangarh fort

मेहरानगढ़ फोर्ट राजस्थान के जोधपुर में स्थित है। यह किला 120 मीटर ऊंची पहाड़ी पर बना हुआ है, जो दिल्ली के कुतुबमीनार से भी ऊंचा है। इस किले का निर्माण राव जोधा ने सन 1459 को शुरू किया था और इसे पूरा महाराजा जसवंत सिंह ने सन 1638-78 में किया था। यदि हिसाब लगाया जाए तो यह किला 500 वर्ष से भी ज्यादा पुराना है। इस किले में अनगिनत खिड़की, दरवाजे, नक्काशीदार कलाकृति आपको विस्मृत करने के लिए काफी है। इस किले की चोटी से पाकिस्तान की सीमा तक दिखाई देती है। किले के ऊपर माता सती का मंदिर है। यहां प्राचीन समय के चीजों को संरक्षित कर के रखा हुआ है, जो आपको देखने को मिल जाएंगे। यहां किले के दीवारों पर आप को प्राचीन तोपें देखने को मिल जाएंगी।

कांगड़ा किला-हिमाचल प्रदेश (Kangra Fort)

kangra fort

हिमाचल में स्थित कांगड़ा किला भारत के सबसे पुराने किलों में से एक है। यह किला शिवालिक हिलसाइड के पास 463 एकड़ में फैला हुआ है।यह किला हजारो साल पुरानी प्राचीन भव्यता, आक्रमण युद्ध का गवाह है। कांगड़ा किले का निर्माण 3500 साल पहले कटोच वंश के महाराजा सुशर्मा चंद्रा  ने करवाया था। इस किले की भव्यता आपको यही खड़े होकर ही पता चल जाएगी। ऐसा कहा जाता है कि प्राचीन समय मे इस किले में असीमित धन रखा हुआ था जो यहां स्थित देवी माता के मंदिर में  चढ़ता था। इसी धन के लोभ में ना जाने यहां कितने आक्रमण हुए। यह किला चारों ओर से ऊंची ऊंची दीवारों से घिरा हुआ है। इस किले के पास में आपको मांझी और बाणगंगा का संगम भी देखने को मिल जाएगा। इस किले के अंदर लक्ष्मी नारायण मंदिर और वाच टावर देखने योग्य है।

  • delhi ncr

    दिलवालों का शहर दिल्ली की यात्रा

    भारत की राजधानी दिल्ली  के टूरिस्ट प्लेस अपने आप में एक नए रंग को समेटे हुए है। यहां के दर…
Load More Related Articles
Load More By Anjali pandey
Load More In Top City

Check Also

देवभूमि हरिद्वार के दर्शनीय स्थल

उत्तराखंड राज्य में पहाड़ियों के बीच बसा हुआ हरिद्वार जिसे देवभूमि तुल्य माना गया है। यह हि…