Home Top City असम पूर्वोत्तर भारत का प्रवेशद्वार- असम ट्रिप की पूरी जानकारी

असम पूर्वोत्तर भारत का प्रवेशद्वार- असम ट्रिप की पूरी जानकारी

11 second read
1
0
239
majuli

असम भारत में चाय के बागान के लिए जाना जाता हैं। इसे भारत के पूर्वी सात बहन राज्य का प्रवेशद्वार के नाम से जाना जाता हैं। असम भारत में पर्यटन का प्रमुख केन्द्र है। यहाँ की संस्कृति और खुबसूरती पर्यटकों का ध्यान आकर्षित करती है। अगर आप भी इसकी शैर करना चाहते है, तो नीचे दिए इन जगहों पर जरूर जाए।

assam

1. माजुली-ब्रह्मपुत्र नदी में स्थित विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीपः

माजूली पूरे विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप है। जो चारों तरफ से ब्रह्मपुत्र नदी से घिरा हुआ है। नदी के बीच बसा द्वीप बहुत ही रोचक और आकर्षक लगता है। लेकिन धीरे-धीरे माजुली नदी द्वीप बड़ी तेजी से सिकुड़ता जा रहा है। पर्यावरण में होने वाले बदलाव ने इस द्वीप की खूबसूरती को धीरे धीरे कम कर रहा है। कुछ सर्वेक्षण से तो यह भी अनुमान लगाया गया है कि यह द्वीप कम से कम 15 से 20 साल तक ही रह पायेगा। माजुली द्वीप पानी के बीच में स्थित होने के कारण हीं द्वीप नहीं कहलाता बल्कि इसमें बहुत सारी ऐसी रोचक बातें हैं हैं जो इसे एक द्वीप बनाती है।

Read More : –  लेह-लद्दाख ट्रीप की संपूर्ण जानकारी

कैसे पहुंचेः

माजुली तक पहुंचने का सिर्फ एक ही रास्ता है फेरी जो इस द्वीप को बाहरी दुनिया से जोड़ता है। इस दीप के सबसे नजदीक में स्थित शहर जोरहाट से हर दिन 5 बार फेरी आती है। फेरी का मतलब यहां नाव से है, एक बड़ी नाव जो लोगों को द्वीप तक पहुंचाती है। माजुली द्वीप तक हर समान बड़े से बड़ा और छोटे से छोटा इस फेरी के माध्यम से ही आता जाता है। फेरी के माध्यम से माजुली द्वीप तक पहुंचने में लगभग 3 से 4 घंटे का समय लगता है। माजुली द्वीप में पूरी एक संस्कृति बसी हुई है। यहां के मिसिंग समुदाय के लोग सबसे प्रमुख आकर्षण का केंद्र है। यहां भगवान कृष्ण का आकर्षक मंदिर है, यहां के लोग कृष्ण को अपना प्रमुख देवता मानते हैं। माजुली द्वीप का आउनीटी सत्र संग्रहालय और पुस्तकालय लोगों को अधिक आकर्षित करता है।

asssam

2. असम चाय का बागानः

चाय के बागान असम की सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है। यहां अंग्रेजों के द्वारा बनाए गए बड़े-बड़े बंगले प्रमुख आकर्षण का केंद्र है। चाय की पत्तियों को टोकरी पर इकट्ठा कर श्रमिकों समूह के द्वारा पीठ पर लादकर ले जाना और यहां का हरा-भरा नजारा सबसे ज्यादा आकर्षित करता है। जोरहाट में स्थित टोंकलाई विश्व का सबसे बड़ा चाय अनुसंधान केंद्र है। यहां चाय कि नई- नई किस्म को लेकर बहुत सारे अनुसंधान किए जाते हैं।

जोरहाट से गुवाहाटी के बीच के चाय के बागानों की खूबसूरती पूरे असम के प्रमुख आकर्षण का केंद्र है।

kanjiranga national park

3. काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यानः

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान भारत में एक विश्व धरोहर स्थल के रूप में प्रसिद्ध है। ये उद्यान एक सिंग वाले गेड़ो के लिये सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है। काजीरंगा राष्ट्रीय वन उद्यान गुवाहाटी और जोरहाट को जोड़ने वाले बीच के रास्ते पर बसा हुआ है। यहां गेड़ो के साथ-साथ हिरण और जंगली भैस  देखने को मिलते हैं।

इनके अलावा भी कामाख्या मंदिर असम में हिंदू धर्म का पवित्र मंदिर माना गया है। हाफलोंग असम का एक खूबसूरत हिल स्टेशन है। जहां आप पूरा इंद्रधनुष देख सकते हैं। प्रवासी पक्षियों के समूह की सामूहिक आत्महत्या इस क्षेत्र की विचित्र घटना के लिए यह विश्व भर में प्रसिद्ध है।

असम कैसे पहुंचेः

असम में रेल मार्ग, सड़क मार्ग और हवाई मार्ग, तीनों मार्ग से जाया जा सकता है। असम का प्रमुख हवाई अड्डा गुवाहाटी गोपीनाथ बोर्दोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। यहां से हर रोज भारत के प्रमुख शहरों के लिए उड़ानें भरी जाती हैं। इसके साथ साथ  रेल के माध्यम से भी आप आसानी से यहां पहुंच सकते हैं। गुवाहाटी भारत के पूर्वोत्तर भाग का रेलवे मुख्यालय है। साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग से भी आसानी से असम तक पहुंचा जा सकता है।

Load More Related Articles
Load More By suman rajawat
Load More In Top City

Check Also

सपनों के शहर मुंबई की यात्रा

मुम्बई शहर चारों ओर से समुद्र से घिरा हुआ है। मुम्बई को कोई सपनों का शहर मानता है तो कोई म…